प्रतिक्रिया शिकायतेंसंपर्क

एचपीसीएल में निगम सामाजिक उत्तरदायित्व (सीएसआर)

हिन्दी
Image: 
  1. पृष्ठभूमि

    1 अप्रैल 2014, के अनुसार हर कंपनी, प्राइवेट लिमिटेड या पब्लिक लिमिटेड, जिन्होंने 500 करोड़ रुपये का शुद्ध मूल्य या 1,000 करोड़ रुपये या 5 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ का कारोबार किया है, उन्हें तीन वित्तीय वर्षों के लिए, तुरंत अपने औसत शुद्ध लाभ का कम से कम 2% , कॉर्पोरेट सामाजिक गतिविधियों पर खर्च करना होगा| 2013 के अधिनियम की अनुसूची में शामिल व्यापार के सामान्य कारोबार में सीएसआर गतिविधियों को शामिल नहीं करना चाहिए|.
  2. सीएसआर पॉलिसी

    1. सीएसआर का उद्देश्य

      1. एचपीसीएल अपने आसपास के स्थानीय समुदायों में अपनी सीएसआर गतिविधियों पर ध्यान देगा| रिफाइनरीज, टर्मिनल, डिपो, एलपीजी प्लांट्स पाइपलाइन्स, विमानन स्टेशनों, ल्युब ब्लेंडिंग प्लांट और प्रोजेक्ट का स्थान और अन्य कार्यालय आदि| एचपीसीएल कम से कम इन स्थानीय समुदायों के लिए 60% सीएसआर बजट आवंटित करने के लिए प्रतिबद्ध है |
      2. एचपीसीएल समाज के कम विशेषाधिकार प्राप्त और कमजोर वर्गों के लिए, सामाजिक पूंजी बनाने के लिए सीएसआर गतिविधियां लागू करेगा|
    2. संगठन की संरचना

      1. सीएसआर समिति

        कॉर्पोरेशन की बोर्ड स्तर पर उप-समिति होगी जिसे सीएसआर कमिटी का नाम दिया गया है| इसमें तीन या उससे अधिक निदेशक होंगे और इसमें से कम से कम एक स्वतंत्र निदेशक के रूप में कार्य करेंगे|
        सीएसआर समिति की भूमिका और जिम्मेदारी इसप्रकार है:

        1. निगमित सामाजिक दायित्व नीति तैयार करना और बोर्ड को उसका सुझाव देना जिसमें कंपनी के अधिनियम 2013 की अनुसूची VII अनुसार करने वाले गतिविधियों की सुचना होगी|
        2. बजट व्यय की राशि को ऊपरी खंड (1) में निर्दिष्ट गतिविधियों पर खर्च करने का सुझाव|
        3. कंपनी के कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व नीति की समय-समय पर निगरानी करना|
        4. सीएसआर परियोजनाओं / कार्यक्रमों / गतिविधियों को कार्यान्वित करने के लिए एक पारदर्शी निगरानी प्रक्रिया को लागू करना |
        5. तिमाही आधार पर सीएसआर गतिविधियों के कार्यान्वयन की निगरानी।
        6. रुपये 70 लाख और उससे अधिक के मौद्रिक मूल्य के साथ हरएक कार्यक्रमों / परियोजनाओं / गतिविधियों को मंजूरी ।
        7. एचपीसीएल के क्षेत्र के बाहर के किसी भी प्रोजेक्ट्स, कार्यक्रम और गतिविधियों को स्वीकृति देना|
      2. सीएसआर काउंसिल :

        सीएसआर काउंसिल के सदस्य :

        अध्यक्ष: निदेशक मानव संसाधन,
        सदस्य : कार्यकारी निदेशक–मानव संसाधन, कार्यकारी निदेशक–रिटेल, कार्यकारी निदेशक– एलपीजी, कार्यकारी निदेशक - ओ&डी , कार्यकारी निदेशक–पी&पी, कार्यकारी निदेशक–एचएसई, कार्यकारी निदेशक- एमआर और सीएसआर प्रमुख

        सीएसआर काउंसिल की जिम्मेदारी और भूमिका में शामिल है :

        1. कॉर्पोरेशन के विजन के साथ सीएसआर गतिविधियों की सीएसआर विभाग को जानकारी देना |
        2. हर तीन महीनों बाद सीएसआर गतिविधियों और बजट के खर्च की समीक्षा करना |
      3. सीएसआर प्रबंधन समिति

        सीएसआर प्रबंधन समिति के सदस्य

        अध्यक्ष : निदेशक मानव संसाधन
        सदस्य: कार्यकारी निदेशक – मानव संसाधन विकास, कार्यात्मक , एसबीयू प्रमुख / कार्यकारी निदेशक आरसिड़ी (विपणन ), प्रमुख – सीएसआर, महाप्रबंधक – कॉर्पोरेट वित्त, मुख्य प्रबंधक – सीएसआर (सचिव)

        सीएसआर प्रबंधन समिति की जिम्मेदारी और भूमिकाओं में शामिल है|

        1. विभिन्न स्थानों से प्राप्त सीएसआर परियोजना / कार्यक्रम / गतिविधियों के प्रस्तावों की समीक्षा |
        2. 40 लाख रुपये और 70 लाख रुपये मूल्य के अनुमोदित आवंटित बजट के प्रस्तावों को मंजूरी |
      4. सीएसआर कार्य समिति
        सीएसआर कार्य समिति के सदस्य :

        अध्यक्ष: प्रमुख - सीएसआर
        सदस्य: प्रमुख – मानव संसाधन, विपणन, डीजीएम, मुख्य / वरिष्ठ प्रबंधक वित्त, मुख्य प्रबंधक - सीएसआर (सचिव)

        सीएसआर कार्य समिति की जिम्मेदारियों और भूमिकाओं में शामिल है :

        1. विभिन्न स्थानों से प्राप्त सीएसआर परियोजना / कार्यक्रम / गतिविधियों के प्रस्तावों की समीक्षा |
        2. 40 लाख रुपये से कम मूल्य के अनुमोदित आवंटित बजट के प्रस्तावों को मंजूरी |
    3. सीएसआर परियोजना / कार्यक्रम / गतिविधि के मुख्य क्षेत्र :

      1. कॉर्पोरेशन सीएसआर का ध्यान जिन क्षेत्रों की तरफ है वह राष्ट्रीय विकास संबंधी नीतियां , और बच्चों, महिलाओं और कमजोर वर्गों के विकास के लिए राष्ट्र की अंतरराष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं से प्रेरित हैं। एचपीसीएल के सीएसआर क्षेत्रों का मुख्य ध्यान बाल अधिकार, बाल विकास और शिक्षा कानून , राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशनों, स्वास्थ्य देखभाल - भारत विजन 2020, राष्ट्रीय कौशल विकास मिशन, और सामुदायिक / ग्रामीण विकास पर नीतियों से प्रेरित है|

        सभी परियोजनाएं / कार्यक्रम / गतिविधियां इन क्षेत्रों में :
        1. बच्चे की देखभाल
        2. शिक्षा
        3. स्वास्थ्य सेवा
        4. कौशल विकास
        5. खेल
        6. पर्यावरण एवं सामुदायिक विकास
      2. प्राधिकरण मैनुअल की सीमा के तहत स्वीकृत इनमें से प्रत्येक परियोजनाओं / कार्यक्रमों की गतिविधियों का विस्तृत विवरण|
      3. उपर दिए गए किसी भी क्षेत्रों के अलावा अन्य परियोजनाओं / कार्यक्रमों की गतिविधियों के लिए सीएसआर कमिटी की मान्यता लेनी होगी|
      4. सभी परियोजनाएं / कार्यक्रम / गतिविधियों का कार्य इन क्षेत्रों में शुरू किया जाएगा:
        1. एचपीसीएल आपरेशन क्षेत्रों / स्थानों के निकट एचपीसीएल स्थानीय विकास योजना|
        2. बीआरजीएफ (पिछडे क्षेत्र के लिए अनुदान निधि) में जिलों की पहचान योजना आयोग द्वारा की जाती है |
        3. जहांपर एचपीसीएल के महत्वपूर्ण स्थान है |

        बजट का कम से कम 60% एचपीसीएल स्थानों के आसपास के समुदाय के लिए खर्च किया जाएगा |

      5. सीएसआर परियोजनाएं / कार्यक्रम / गतिविधियों को भागीदार / विशिष्ट कार्यान्वयन एजेंसियों के माध्यम से लागू किया जाएगा। इस प्रकार एक भागीदार को लागू करने की न्यूनतम पात्रता इसप्रकार हैं :
        1. यह पंजीकृत सोसाइटी, ट्रस्ट, कंपनी अथवा विशेष एजेंसी होनी चाहिए। और पंजीकरण के बाद इसप्रकार के गतिविधियों को संभालने का कम से कम तीन साल का अनुभव होना चाहिए |
        2. किसी भी सरकारी या सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम के साथ काम करने के अनुभव को प्राथमिकता दी जायेगी|

        हालांकि भागीदारों का चयन करते समय चयन प्राधिकारी आवेदकों से एक अनिवार्य आधार पर किसी भी अन्य योग्यता के लिए अनुरोध कर सकते हैं।

    4. वित्तीय संसाधन

      1. वार्षिक सीएसआर बजट
        कंपनी अधिनियम 2013 के अनुसार कॉर्पोरेशन ने पिछले तीन वित्तीय वर्ष के दौरान किए गए कंपनी के शुद्ध मुनाफे में से औसत से कम से कम 2% सीएसआर बजट का उद्देश्य रखा है|
      2. बजट का आवंटन
        1. बजट का कम से कम 60% से एक परियोजना मोड में गतिविधियों के लिए आवंटित किया जाएगा।
        2. बजट का 5% से अधिक निर्माण क्षमता और संचार के लिए आवंटित किया नहीं जाएगा |
        3. दूसरे सामाजिक गतिविधियों के लिए सिर्फ एक बार संतुलित बजट दिया जाएगा|

        एक समग्र आधार पर बजट का कम से कम 25% कमजोर वर्ग के अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के कल्याण योजना को देना चाहिए।
        सीएसआर परियोजनाओं / कार्यक्रमों / गतिविधियों से प्राप्त कोई भी बचत कंपनी के कारोबार लाभ का हिस्सा नहीं होगा।

    5. निरीक्षण

      1. निगरानी की प्रक्रिया दो स्तरीय तंत्र के माध्यम से होगी :
        1. तिमाही आधार पर सीएसआर समिति
        2. तिमाही आधार पर सीएसआर समिति
      2. इसके अलावा, वर्ष के अंत में, बड़ी परियोजनाओं के प्रभाव का आकलन किया जाएगा |

त्वरित लिंक्स