Press Release

English
Image: 

Hon’ble Prime Minister launches commencement of work for CGD projects in five Geographical Areas in Haryana

November 22, 2018

राज्‍य के तीन जिलों में, दो और नगर गैस वितरण परियोजनाओं के बोली चक्र का शुभारंभ

माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने आज करोड़ों देशवासियों के लिए सुविधाजनक और पर्यावरण अनुकूल प्राकृतिक गैस की उपलब्धता को बढ़ावा देते हुए हरियाणा राज्‍य के 5 नगरों सहित पूरे भारत में 63 भौगोलिक क्षेत्रों में नगर गैस वितरण परियोजनाओं के कार्य का शुभारंभ किया।

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस नियामक बोर्ड (पीएनजीआरबी) द्वारा अधिनिर्णित भौगोलिक क्षेत्रों के कार्य का शुभारंभ रिमोट द्वारा माननीय प्रधान मंत्री के कर कमलों से नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में किया गया जिसमें माननीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी, भूविज्ञान एवं पर्यावरण, तथा वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री, डा. हर्षवर्धन, माननीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस तथा कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान तथा अन्य गणमान्य उपस्थित थे।

हरियाणा के खारखोदा, सोनीपत जिले के भौगोलिक क्षेत्रों (पहले से ही अधिकृत क्षेत्र के अलावा), जींद जिलों में नगर गैस वितरण परियोजनाओं के कार्य के शुभारम्‍भ होने के अवसर पर आयोजित विशेष समारोह में सोनीपत के सांसद श्री रमेश चन्‍द्र कौशिक, सोनीपत के डिप्टी कमिश्नर श्री विनय सिंह ने श्री डी के पट्टनायक, कार्यकारी निदेशक एचपीसीएल एवं श्री सुबोध बत्रा, उत्तर आँचल प्रमुख की मौजूदगी में अपनी उपस्थिति से समारोह की शोभा बढ़ाई।

सीजीडी सेक्टर में प्राकृतिक गैस का उपयोग इन चार अलग-अलग क्षेत्रों किया जा सकता है -

  1. संपीड़ित प्राकृतिक गैस (सीएनजी) जिसका मुख्य रूप से ऑटो-ईंधन के लिए उपयोग किया जाता है,
  2. पाइप्‍ड नेचुरल गैस (पीएनजी) जिसका घरेलू ईंधन के रूप में उपयोग किया जाता है,
  3. वाणिज्यिक और
  4. औद्योगिक क्षेत्र

वर्तमान में, 23 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 129 जिलों में फैले 92 भौगोलिक क्षेत्रों (99 पूर्ण और 30 आंशिक) को सीजीडी के लिए अधिकृत किया गया है। यह भारत की आबादी के लगभग 20 प्रतिशत (2011 की जनगणना के अनुसार) और 11 प्रतिशत भौगोलिक क्षेत्र को कवर करता है। इसके अतिरिक्‍त , 5 अन्‍य जिलों में भी सीजीडी परिचालन प्रगति पर है।

पीएनजीआरबी ने अप्रैल 2018 में 22 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों (यूटी) में फैले 86 भौगोलिक क्षेत्रों में 174 जिलों (156 पूर्ण और 18 आंशिक) के लिए 9वें सीजीडी बोली-चक्र का शुभारंभ किया था। बोलियों के मूल्यांकन के बाद, इन भौगोलिक क्षेत्रों में नगर गैस वितरण (सीजीडी) परियोजनाओं के विकास के लिए 23 इकाइयों को अधिकरण पत्र जारी किए हैं।

हरियाणा में पंचकुला (पहले से अधिकृत क्षेत्रों को छोड़कर), सिरमौर, शिमला और सोलन जिले के भौगोलिक क्षेत्र (इंडियन ऑयल-अदानी गैस प्राइवेट लिमिटेड को) (इस भौगोलिक क्षेत्र में हिमाचल प्रदेश भी शामिल हैं), भिवानी, चरखी दादरी और महेंद्रगढ़ जिले, नुह और पलवल जिले (अदानी गैस लिमिटेड को), हिसार जिला (हरियाणा सिटी गैस कपिल चोपड़ा एंटरप्राइज और रति चोपड़ा संघ को), सोनीपत (पहले से ही अधिकृत क्षेत्रों को छोड़कर) और जींद जिले के भौगोलिक क्षेत्र (हिन्‍दुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड) को प्रदान किए हैं।

9वीं सीजीडी बोली-प्रक्रिया चक्र के पूरा होने के साथ, प्राकृतिक गैस 26 राज्यों और केन्‍द्र प्रशासित राज्‍यों में फैले 178 भौगोलिक क्षेत्रों में उपलब्ध होगी जिसमें 290 जिलों (278 पूर्ण और 12 आंशिक) शामिल हैं। इसमें भारत की आबादी का 46 प्रतिशत से अधिक और भौगोलिक क्षेत्र का लगभग 35 प्रतिशत हिस्सा शामिल है।

भौगोलिक क्षेत्र में शहर या स्थानीय नगर गैस वितरण नेटवर्क के विकास के लिए अधिकृत विभिन्न इकाइयों द्वारा की गई बचनबद्धता के अनुसार, हरियाणा में 9वीं सीजीडी बोली-चक्र के तहत, 7,13,213 घरेलू पीएनजी कनेक्शन और बड़े पैमाने पर 249 सीएनजी स्‍टेशन, सितंबर, 2026 तक की आठ वर्ष की अवधि के दौरान स्‍थापित किए जाएंगे जो 4,987 इंच-किलोमीटर स्टील पाइपलाइन के अतिरिक्‍त होंगे। इसके अलावा, इकाइयों को सीजीडी प्राधिकरण विनियमों में प्रदान की गई सीमाओं के अनुसार अपने भौगोलिक क्षेत्र में औद्योगिक और वाणिज्यिक इकाइयों को प्राकृतिक गैस की आपूर्ति के लिए अधिकृत किया जाएगा।

इस माह, पीएनजीआरबी ने 14 राज्यों में फैले 50 भौगोलिक क्षेत्रों के लिए 10 वें सीजीडी बोली-चक्र का शुभारंभ किया है। इससे नगर गैस वितरण का कवरेज बढ़कर देश की जनसंख्या का 70% और क्षेत्र का 53% हो जाएगा।

10 वें सीजीडी बोली-चक्र के भौगोलिक क्षेत्र में हरियाणा के कैथल, सिरसा, फतेहाबाद और मनसा जिले शामिल हैं (इस भौगोलिक में पंजाब के क्षेत्र भी शामिल हैं)।

Bidding round launched for two more CGD projects comprising three districts in the state

Hon’ble Prime Minister Shri Narendra Modi today launched the commencement of work for City Gas Distribution projects in 63 Geographical Areas across India, including five in Haryana, heralding the availability of convenient and environment-friendly natural gas for millions of residents.

The commencement of work for the GAs, awarded by Petroleum & Natural Gas Regulatory Board (PNGRB), was launched by Hon’ble Prime Minister through a remote device at a programme in New Delhi in the presence of Hon’ble Minister of Science & Technology, Earth Sciences and Environment, Forest & Climate Change Dr. Harsh Vardhan, Minister of Petroleum & Natural Gas and Skill Development and Entrepreneurship Shri Dharmendra Pradhan and other dignitaries.

In Kharkhoda, Sonipat Sri Ramesh Chander Kaushik Member of Parliament of Sonipat and Sri Vinay Singh, Deputy Commissioner of Sonipat have graced a special event to mark the occasions in the Geographical Areas of Sonipat District (except area already authorized) & Jind districts in the presence of Sri D K Pattanaik, Executive Director HPCL and Sri Subodh Batra, North Zone Head HPCL.

Natural gas can be used in CGD sector in following four distinct segments –

  1. Compressed Natural Gas (CNG) predominantly used as auto-fuel,
  2. Piped Natural Gas (PNG) used in domestic households,
  3. commercial and
  4. Industrial segments.

At present, CGD authorization has been given for 92 GAs covering 129 districts (99 complete and 30 part) spread over 23 States and UTs. These cover about 20 percent of India’s population (as per 2011 census) and 11 percent of its geographical area. In addition, CGD operations are being carried out in 5 districts.

PNGRB had launched the 9th CGD Bidding Round in April 2018 for the 86 GAs which includes 174 districts (156 complete and 18 part), spread over 22 States and Union Territories (UTs). After the evaluation of bids, Letters of authorization for development of City Gas Distribution (CGD) projects in these GAs have been issued to 23 entities.

The GAs awarded in Haryana are Panchkula District (except areas already authorized), Sirmaur Districts, Shimla & Solan District (to IndianOil-Adani Gas Private Limited) (this GA includes areas in Himachal Pradesh also), Bhiwani, Charkhi Dadri & Mahendragarh Districts, Nuh & Palwal Districts (to Adani Gas Limited), Hisar District (to Consortium of Haryana City Gas Kapil Chopra Enterprise & Rati Chopra), Sonipat District (except areas already authorized) & Jind District (to Hindustan Petroleum Corporation Limited).

With the completion of 9th CGD Bidding Round, natural gas would be available in 178 GAs comprising 290 districts (278 complete and 12 part) spread over 26 States and UTs covering more than 46 percent of India’s population and about 35 percent of its geographical area.

As per the commitment made by the various entities in the GAs, authorized for development of City or Local City Gas Distribution Network under 9th CGD Bidding Round in Haryana, 7,13,213 domestic PNG connections and 249 CNG stations would be installed largely during a period of eight years up to September, 2026, in addition to 4,987 inch-km of steel pipeline. Further, the entities would be authorized to supply natural gas to industrial and commercial units in their respective GAs as per the limits provided in the CGD Authorization Regulations.

This month, PNGRB launched the 10th CGD Bidding Round for 50 GAs spread across 14 states. This would increase coverage of city gas distribution to 70% of the country’s population and 53% of its area.

The GAs in Haryana included in the 10th CGD Bidding Round are Kaithal district, Sirsa, Fatehabad & Mansa districts (this GA includes areas in Punjab also).

Go Back