Press Release

English
Image: 

Dr. Arunima Sinha to hoist HPCL flag also at Mount Vinson, Antarctica

Mount Vinson, Antarctica

सुविख्‍यात पर्वतारोही और विश्‍व की पहली दिव्‍यांग एवरेस्‍ट विजेता डॉ. अरूणिमा सिन्‍हा ने सभी महाद्वीपों के पवर्त शिखर फतह करने के अपने अभियान के तहत आज माउंट विंसन, एंटार्टिका की चढ़ाई का अभियान प्रारंभ किया है। इस अभियान का शुभारंभ आज हिन्‍दुस्‍तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री मुकेश कुमार सुराणा ने उन्‍हें राष्‍ट्रीय ध्‍वज के साथ एचपीसीएल का ध्‍वज सौंपते हुए किया। डॉ. सिन्‍हा 18 दिसम्‍बर से यह चढ़ाई प्रारम्‍भ करने वाली हैं और उनका 25 दिन के बाद माउंट विंसन पर भारतीय ध्‍वज फहराने का लक्ष्‍य है।

हिन्‍दुस्‍तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के उत्‍तरी अंचल के सभागार में आयोजित ‘ध्‍वजार्पण समारोह’ में मुख्‍य महाप्रबंधक-रिटेल श्री सुबोध बत्रा ने डॉ. अरूणिमा सिन्‍हा का स्‍वागत किया और उन्‍हें माउंट विंसन, एंटार्टिका पर्वतारोहण के लिए अपनी शुभकामनाएं दी।

डॉ. अरुणिमा सिन्‍हा जो एवरेस्‍ट पर पहुंचने वाली पहली दिव्‍यांग भारतीय महिला है तथा जिन्‍होंने सभी महाद्वीपों के पर्वत शिखरों को फतह करने का बीड़ा उठाया हुआ है, उन्‍होंने भी इस अवसर पर अपने अनुभव साझा करते हुए कहा कि दिव्‍यांगता को उन्‍होंने अपनी शक्ति बनाकर अपने जीवन की दिशा तय की। उन्‍होंने कहा कि केवल परिश्रम करने से तब तक कोई लाभ नहीं होगा जब तक परिश्रम की दिशा तय न हो। हमें पहले जीवन को एक रचनात्‍मक और सकारात्‍मक दिशा देनी होगी उसके बाद ही हमारा श्रम वांछित परिणाम दे सकता है।

अपने संबोधन में एचपीसीएल के अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री मुकेश कुमार सुराणा ने कहा कि डॉ. अरूणिमा सिन्‍हा का जीवन हमें विपरीत परिस्थितियों में भी अपना सर्वश्रेष्‍ठ देने का संदेश देता है और बताता है कि जीवन में असंभव जैसा कुछ भी नहीं है। श्री सुराणा ने डॉ. अरूणिमा सिन्‍हा के माउंट विंसन के आगामी अभियान के लिए उन्‍हें शुभकामनाएं दीं और एचपीसीएल के कर्मचारियों को अपने अनुभव से लाभान्वित करने के लिए आभार व्‍यक्‍त किया।

इस अवसर पर डॉ. अरूणिमा सिन्‍हा की जीवन यात्रा से जुड़ी एक लघु फिल्‍म का भी प्रदर्शन किया गया जिसमें जीवन के प्रति हौसले से परिपूर्ण उनकी यात्रा और सकारात्‍मक व प्रेरक विचारों को फिल्‍माया गय गया है। साथ ही समारोह में उनके जीवन संघर्ष, अदम्‍य साहस, विपरीत परिस्थितियों में भी हार न मानने और अंतत: जीत हासिल करने के जुनून और उपलब्धियों की भी जानकारी दी गई।

कार्यक्रम में एचपीसीएल के मुख्‍य महाप्रबंधक-एलपीजी, श्री एम एस यादव और डॉ अरुणिमा सिन्हा के पति श्री गौरव सिंह के अलावा हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के सैकड़ों कर्मचारियों ने भाग लिया।

Dr. Arunima Sinha, the well-known mountaineer and the first differently abled mountaineer to climb the Everest peak and who has decided to conquer the highest peaks of al continents has started her expedition campaign for mount Vinson, Antarctica today. This campaign was launched by Mr. Mukesh Kumar Surana, Chairman and Managing Director of Hindustan Petroleum Corporation Limited, while presenting her National Flag with the flag of HPCL. Dr. Sinha is going to begin this expedition from December 18 and after 25 days she aims to hoist the Indian flag on Mount Vinson.

Dr. Arunima Sinha, who is the first differently abled Indian woman, to reach Everest and who has taken the plunge to defeat the mountain peaks of all the continents, also shared her experiences on this occasion. She said that she has turned her disability into her strength. Disability lies in the mindset of a person and not in the body. With hard work alone one may not get the desired goal unless the direction of diligence is fixed. We must first give life a constructive and positive direction, only after that our hard work can give the desired results.

In his address, Mr. Mukesh Kumar Surana, Chairman and Managing Director of HPCL said that the life of Dr. Arunima Sinha gives us the message of giving ones best even in adversity. It teaches us that there is nothing like impossible in life. Mr. Surana gave best wishes to Dr. Arunima Sinha for the upcoming campaign of Mount Vinson and thanked her for her visit to HPCL and benefiting the employees by sharing her views and experience.

On this occasion, a short film related to the life and journey of Dr. Arunima Sinha was also shown wherein her struggle with the adverse situations and positive and inspiring ideas were covered. At the same time information was also shared about her unlimited courage, untiring struggle and her nature which does not to accept defeat even in adverse circumstances and her passion to get victory, ultimately.

The programme was attended by CGM-LPG, Sh. M.S. Yadav and Dr. Arunima Sinha’s husband Sh. Gaurav Singh along with hundreds of employees of Hindustan Petroleum Corporation Limited.

Go Back