Press Release

English
Image: 

HPCL collaborates with Indian Army to set up third batch of Kashmir Super 30 (Medical)

22nd October 2020 Mumbai

एचपीसीएल ने “कश्मीर सुपर 30 (मेडिकल)” की महत्वाकांक्षी परियोजना के तीसरे बैच को आरंभ करने के लिए भारतीय सेना के साथ सहयोग किया है। कार्यक्रम के पीछे की अवधारणा यह थी कि चयन प्रक्रिया के माध्यम से कम-विशेषाधिकार प्राप्त समाज के प्रतिभाशाली व्यक्तित्व का चयन करना और इस प्रक्रिया के माध्यम से उन्हें धीरे-धीरे समृद्धि की ओर बढ़ाना जो धैर्य, दृढ़ संकल्प और दृढ़ता का परिचय देते हैं।

परियोजना की अवधि 12 महीने आवासीय प्रशिक्षण कार्यक्रम है, जो भारतीय सेना के 10 सेक्टर राष्ट्रीय राइफल्स, श्रीनगर के समग्र नियंत्रण और मार्गदर्शन में राष्ट्रीय पात्रता प्रवेश परीक्षा (नीट) के लिए उम्मीदवारों को तैयार करना है।

कश्मीर सुपर 30 परियोजना को वर्ष 2017-18 में आरंभ किया गया था। तब से अब तक प्रथम दो बैचों में 68 विद्यार्थी इस परियोजना का हिस्सा बने। यह गर्व का विषय है कि पहले बैच के सभी 35 विद्यार्थी नीट की परीक्षा में सफल हुए और मेडिकल तथा संबद्ध पाठ्यक्रम में प्रवेश प्राप्त किया। दूसरे बैच के 33 विद्यार्थियों ने भी अति विशाल परिणाम अर्जित किए एवं वे इस वर्ष कोर्सेज में एडमिशन लेने की प्रक्रिया में हैं।

कश्मीर सुपर-30 (मेडिकल) परियोजना के लिए पहली बार ऑनलाइन एमओयू पर हस्ताक्षर समारोह 17 अक्टूबर, 2020 को 15 कॉर्पस के जनरल ऑफिसर कमांडिंग, लेफ्टिनेंट जनरल बी. एस. राजू, अति विशिष्ट सेवा पदक (एवीएसएम), युद्ध सेवा पदक (वाईएसएम) और निदेशक-मानव संसाधन, श्री पुष्प जोशी के बीच, भारतीय सेना तथा एचपीसीएल के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में सम्पन्न हुआ।

यह साझेदारी कश्मीरी युवाओं की महत्वाकांक्षाओं को समर्थन करने की दिशा में एक और कदम है तथा यह पहल कश्मीर के आवाम के साथ सद्भावना निर्माण में एक लंबा रास्ता तय करेगी।

HPCL has collaborated with Indian Army to implement the third batch of ambitious project – “Kashmir Super 30 (Medical)”. The concept behind the program was to handpick the brightest minds through a selection process from the less-privileged society who exemplify grit, determination and perseverance and elevate them gradually through this process towards prosperity.

The gestation period of the project is 12-months residential coaching program, which prepares the aspirants for National Eligibility Entrance Test (NEET), under overall control and guidance of Indian Army 10 Sector Rashtriya Rifles, Srinagar.

Kashmir Super 30 Project was first started in the year 2017-18. Since then 68 students, in the first two batches, have been part of this project. It is a matter of great pride, that all 35 Students of the first batch have cleared NEET and received admission in Medical & Allied Courses. The second batch of 33 Students have also secured stupendous result and are in the process of undergoing counselling for admissions this year.

The first-ever online MoU signing ceremony for Kashmir Super-30 (Medical) project was held on October 17, 2020 between Director-HR of HPCL, Shri Pushp Joshi, and General Officer Commanding 15 Corps, Lieutenant General B. S. Raju, Ati Vishisht Seva Medal (AVSM), Yudh Seva Medal (YSM) in the presence of other senior officials of Indian Army and HPCL.

This partnership is another step towards supporting the ambitions of the Kashmiri youth and this initiative will go a long way in building Sadhbhavna with the Awaam of Kashmir.

Go Back