Press Release

English
Image: 

HPCL acquires balance 50% stake in Chhara LNG Terminal

Mumbai 30.03.2021

Hindustan Petroleum Corporation Limited (HPCL) has acquired the balance 50% equity stake in ‘HPCL Shapoorji Energy Private Limited (HSEPL)’ from M/s S P Ports Pvt Ltd on 30th March 2021. Post-acquisition, HPCL’s stake in HSEPL gets enhanced to 100%, making HSEPL a wholly owned subsidiary of HPCL.

HSEPL is constructing a 5 MMTPA Liquified Natural Gas (LNG) Terminal at Chhara, Gujarat at a project cost of about Rs 4300 crore which is likely to be completed by end of calendar year 2022. The Terminal will have all facilities for receipt of LNG through ocean going tankers, marine unloading, storage, LNG Road Tanker loading, regasification, and supply of regasified LNG to the gas grid. The project is further expandable to a capacity of 10 MMTPA in future

The acquisition is in line with overall future strategy of HPCL to diversify its product portfolio and is an important step in the direction of having a strong presence in the total Natural Gas value chain. Percentage of Natural Gas in the overall energy basket of India is expected to grow from 6% at present to 15% by 2030 which makes it one of the important growth drivers in future.

HPCL, along with its joint venture companies, has presence in CGD business in 20 Geographical Areas (GA) in 34 districts covering 9 states in the country. HPCL on its own operates 674 CNG stations as on date which it plans to expand further. It is also foraying into setting up of LNG dispensing stations. These, together with the focus on enhanced use of Natural Gas in refineries of HPCL and its joint ventures/subsidiaries add to the strategic value of the acquisition.

हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एचपीसीएल) ने 30 मार्च 2021 को मैसर्स एसपी पोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड से 'एचपीसीएल शापूर्जी एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड (एचएसईपीएल)' में शेष 50% इक्विटी हिस्सेदारी का अधिग्रहण कर लिया है। अधिग्रहण के उपरांत, एचएसईपीएल में एचपीसीएल की हिस्सेदारी 100% तक बढ़ गई है और एचएसईपीएल एचपीसीएल की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी बन गई है।

एचएसईपीएल गुजरात के छारा में लगभग 4300 करोड़ रुपये की परियोजना लागत से 5 एमएमटीपीए लिक्विफाइड नेचुरल गैस (एलएनजी) टर्मिनल का निर्माण कर रहा है जिसके कैलेंडर वर्ष 2022 के अंत तक पूरा होने की संभावना है। टर्मिनल के पास एलएनजी की प्राप्ति के लिए सभी सुविधाएं होंगी जिसमें समुद्र में जाने वाले टैंकर, समुद्री उतराई, भंडारण, एलएनजी रोड टैंकर लोडिंग, रिगैसीफिकेशन और गैस ग्रिड को रिगैसीफाइड एलएनजी की आपूर्ति आदि शामिल है। इस परियोजना का भविष्य में 10 एमएमटीपीए की क्षमता तक विस्तार किया जा सकता है।

यह अधिग्रहण अपने उत्पाद पोर्टफोलियो में विविधता लाने के लिए एचपीसीएल की समग्र भावी रणनीति के अनुरूप है और सकल प्राकृतिक गैस मूल्य श्रृंखला में मजबूत उपस्थिति की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। भारत की समग्र ऊर्जा बास्केट में प्राकृतिक गैस का प्रतिशत वर्ष 2030 तक वर्तमान में 6% से बढ़कर 15% तक होने की संभावना है जो भविष्य में महत्वपूर्ण विकास ड्राइवरों में से एक माना जाएगा।

एचपीसीएल, अपनी संयुक्त उद्यम कंपनियों के साथ, देश में 9 राज्यों को शामिल करते हुए 34 जिलों में 20 भौगोलिक क्षेत्रों (जीए) में सीजीडी व्यवसाय में विद्यमान है। एचपीसीएल आज की तारीख में अपने आप 674 सीएनजी स्टेशनों का संचालन करता है जिसे और विस्तार करने की योजना बना रहा है। यह एलएनजी डिस्पेंसिंग स्टेशनों की स्थापना में भी अग्रणी है। इसके साथ-साथ एचपीसीएल की रिफाइनरियों और उसके संयुक्त उद्यम / सहायक कंपनियों में प्राकृतिक गैस के बढ़ते उपयोग पर ध्यान केंद्रित करने से अधिग्रहण का रणनीतिक मूल्य और बढ़ जाता

Go Back