सुरक्षा एवं पर्यावरण

हिन्दी
Image: 

सामान्‍य सुरक्षा, स्वास्थ्य और पर्यावरण

एचपी गैस में सुरक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य और पर्यावरण ने सही मायने में अपना महत्‍व बढ़ाया है, विशेषत: विश्‍व के समक्ष पारिस्थितिक असंतुलन की समस्‍या को देखते हुए यह निहायत ज़रूरी है। एचपीसीएल ने एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते हमेशा अपने कारोबार प्रचालन और अपने आसपास के वातावरण में सामंजस्य बनाए रखने के लिए निरंतर प्रयासरत रहा है।

अपने कार्यस्‍थलों में सुरक्षा कार्यपद्धतियां अपनाकर लोग अपने कार्यस्‍थल के वातावरण को सुरक्षित रख सकते हैं, और यही कार्यपद्धतियां किसी भी पर्यावरण, स्‍वास्‍थ्‍य और सुरक्षा (सुस्वाप ) नीति का भाग बनते हैं। सुरक्षा,स्‍वास्‍थ्‍य और पर्यावरण नी‍ति न केवल जागरूकता का निर्माण करती है बल्कि प्रदूषण मुक्‍त वातावरण भी सुनिश्‍चित करती है। अपनी सभी क्रियाओं को सचेतन रूप से मान्‍यता प्राप्‍त और अपनाए गए मानकों के भीतर सतत मार्गदर्शन द्वारा स्‍वास्‍थ्‍यकारी और सुरक्षित कार्य परिस्थितियों का निर्माण भी करती है।

सुरक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य और पर्यावरण नीति, पर्यावरण की सुरक्षा के प्रति एचपी गैस की प्रतिबद्धता का प्रमाण है, क्‍योंकि हम पर न केवल अपने सह‍कर्मियों की सुरक्षा की अहम जिम्‍मेदारी है बल्कि आनेवाली पीढ़ी को सुरक्षित विश्‍व सौंपने की भी जिम्‍मेदारी है। हम सुरक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य और पर्यावरण नीति का केवल शब्‍दश: अनुपालन नहीं करते हैं बल्कि इसके उद्देश्‍ यों की प्राप्ति की दिशा में पूरे जोश और सक्रियता से इसका पालन करते हैं।

सुरक्षा

एचपी गैस अपना कारोबार इस प्रकार से करने के लिए प्रतिबद्ध है जिससे वह अपने कारोबार से जुड़े कार्मिकों और जन समुदाय की सुरक्षा सुनिश्चित करे। हमारा लक्ष्‍य हमारे कारोबार से जुड़े हर व्‍यक्ति की सक्रिय प्रतिभागिता से 100% दुर्घटना, चोट और व्‍यावसायिक रोग से मुक्‍त कारोबार चलाना है।

100% दुर्घटना मुक्‍त प्रचालन करने के लिए एचपी गैस निम्‍नलिखित करता है:

  • सुरक्षा ज़ोखिम को नियंत्रित करनेवाली सुविधाएं तैयार, इंस्‍टॉल, क्रियान्वित और अनुरक्षित रखना
  • ज़ोखिम को नियंत्रित करनेवाले सांविधिक विनियमों और मानकों का पालन करना
  • किसी भी प्रकार की दुर्घटना/घटना से बचने के लिए कार्यस्‍ थल में कार्यरत कार्मिकों को सुरक्षा पहलू, सुरक्षित कार्यव्‍यवहार और उपकरणों के प्रभावी उपयोग के लिए प्रशिक्षण प्रदान करना
  • आर्थिक रूप से दुर्घटना मुक्‍त प्रचालन हासिल करने के लिए इष्‍टतम मूल्‍य के सुरक्षा/प्रचालन उपकरण इंस्‍टॉल करना और समीक्षा, विश्‍लेषण और आकलन करना
  • संयंत्रों के सुरक्षित प्रचालन के लिए ओईएसडी (ऑयल इंडस्‍ट्री सेफ्टी डिरेक्‍टोरेट), पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय, नई दिल्‍ली (भारत) के सांविधिक विनियमों का पालन करना

जोखिम प्रबंधन और आपदा प्रबंधन योजना-संयंत्रों/आयात सुविधाओं में जब और जैसे ज़रूरत हो, जोखिम प्रबंधन अध्‍ययन किया जाता है ताकि इससे जुड़े जोखिम और इन जोखिमों के प्रबंधन का विश्‍लेषण हो। कार्यस्थलों में जोखिम को कम करने के लिए आवश्‍यक उपाय किए गए हैं।

डीएमपी (आपदा प्रबंधन योजना)-ऑनसाइट और ऑफ साइट आपदा प्रबंधन योजना के लिए स्‍थानीय प्रशासन और अन्‍य संबंधित सांविधिक प्राधिकारियों के परामर्श से किसी आपात स्थिति को नियंत्रित करने के लिए तैयार की गई है। सुरक्षित कार्य वातावरण पर निगरानी रखने और सुधार तथा नियंत्रित करने के लिए सुरक्षा स्‍वास्‍थ्‍य और पर्यावरण विभाग द्वारा आंतरिक सुरक्षा संपरीक्षा की जाती है और आंतरिक एवं बाहरी सुरक्षा संपरीक्षा संस्‍तुतियों के शत प्रतिशत अनुपालन के लिए समन्‍वयन करती है।

सुरक्षा, स्वास्थ्य एवं पर्यावरण की प्रमुख गतिविधियां इस प्रकार हैं:

  • संपत्ति और कार्मिक सुरक्षा
  • प्रचालन सुरक्षा
  • सुरक्षा संपरीक्षा कार्यक्रम
  • उत्‍पाद ज्ञान
  • मूल कारण के विश्‍लेषण के लिए घटना/दुर्घटना/निकट चूक छानबीन
  • आपातकालीन कार्रवाई और फाइल सुरक्षा
  • पर्यावरण सुरक्षा
  • सुरक्षा, प्रशिक्षण, स्‍वास्‍थ्‍य रिकॉर्ड

स्‍वास्‍थ्‍य

एचपी गैस स्‍वस्‍थ कार्य वातावरण के निर्माण और कार्यस्‍थल में एलपीजी से जुड़े किसी भी प्रकार के व्‍यावसायिक स्‍वास्‍थ्‍य जोखिम से निपटने के लिए प्रतिबद्ध है। एचपी गैस के पास किसी भी कार्यस्‍थल में स्‍वास्‍थ्‍य जोखिम के आकलन और इस प्रकार के जोखिम से बचने के लिए उचित उपाय करने की योजना है।

एचपी गैस ने नियमित चिकित्‍सा जॉंच/स्‍वास्‍थ्‍य निगरानी तथा कर्मचारियों की आपात चिकित्‍सा को संभालने के लिए करीबी अस्‍पतालों में व्‍यवस्‍था तथा सीडीपी (कंपनी नामित चिकित्‍सक) रखे हैं। इसके अलावा, महानगरों में स्थित हमारे प्रधान नियंत्रण कार्यालयों में कंपनी के चिकित्‍सा केन्‍द्र हैं और एचपीसीएल नीति के अनुसार हमारे कर्मचारी चिकित्‍सा इलाज के लिए बीमाकृत हैं। हम ‘स्वास्थ्य’ के सांविधिक विनियमों का अनुपालन करते हैं ।

कुछ संयंत्रों ने व्‍यावसायिक स्‍वास्‍थ्‍य सर्वेक्षण पूर्ण किए हैं और सर्वेक्षण रिपोर्ट की संस्‍तुतियों को क्रियान्वित किया है। एचपी गैस की सभी कार्यस्‍थलों में व्‍यावसायिक स्‍वास्‍थ्‍य सर्वेक्षण करने और सर्वेक्षक की संस्‍तुतियों को क्रियान्वित करने की योजना है।

हमारे कर्मचारियों को नियमित रूप से व्‍यावसायिक स्‍वास्‍थ्‍य एवं पर्यावरण संबंधी प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है ओर पर्यावरण का सम्‍मान करने के लिए प्रेरित किया जाता है साथ ही उन्‍हें यह समझाया जाता है कि स्‍वास्थ्‍यकारी पर्यावरण बनाए रखने और उचित कार्यपद्धतियों का पालन करना हर किसी की जिम्‍मेदारी है।

पर्यावरण

एचपी गैस अपना कारोबार स्‍वास्‍थ्‍यकारी और पर्यावरण अनुकूल ढंग से संचालित करने के लिए प्रतिबद्ध है। एचपी गैस के सभी संयंत्रों में पर्यावरण जोखिम पर अध्‍ययन करने है और सर्वेक्षण की संस्‍तुतियों को क्रियान्वित करने की योजना है। कार्यस्‍थल में और इसके आसपास को बेहतर बनाने के लिए विभिन्‍न पर्यावरण कार्यक्रम किए जा रहे हैं। कर्मचारियों को व्‍यावसायिक स्‍वास्‍थ्‍य और पर्यावरण के संबंध में नियमित रूप से प्रशिक्षित किया जा रहा है और पर्यावरण का सम्‍मान करने के लिए प्रेरित किया जाता है, साथ ही उन्‍हें यह समझाया जाता है कि स्‍वास्‍थ्‍यकारी पर्यावरण बनाए रखने और उचित कार्यपद्धतियों का पालन करना हर किसी की जिम्‍मेदारी है।

हम पर्यावरण मानकों और पर्यावरण संबंधी सांविधिक विनियमों/आवश्‍यक्ताओं का पालन करते है।

पर्यावरण अनुकूल मूल्‍य इस प्रकार हैं:

  • नियमित रूप से ऑयल ईंधन वाहनों को ऑटो एलपीजी में परि‍वर्तित करने का प्रचार करना ताकि प्रदूषण कम हो और वातावरण अधिक पर्यावरण अनूकल बने ।
  • एचपी गैस की संयंत्र/आयात सुविधाएं आईएसओ 9001:2000 प्रमाणित संयंत्र हैं
  • एमएलआईएफ (मैंगलौर आयात सुविधाएं) आईएसओ 14001:2004 प्रमाणित संयंत्र हैं
  • संयंत्रों ने आईएसओ 14001:2004 प्रमाणन प्राप्‍त करने के लिए पहल की है। कार्य जारी है
  • किसी भी स्‍लज/ठोस कचरा निपटान के लिए प्रबंधन प्रणाली की उपलब्‍धता। हमारे प्रमुख कार्यस्‍थलों में ईटीपी (एफ्यूएंट ट्रीटमेंट योजना) योजना है जो सुनिश्चित करती है कि कचरे के माध्‍यम से कोई प्रदूषण बाहर न जाए।
  • कुछ संयंत्रों में जल संचयन संयंत्र स्‍थापित किए गए हैं। एमएलआईएफ ने दूसरा जल संचयन संयत्र स्‍थापित करने की योजना बनाई है।
  • नियमित वृक्षारोपण तथा ग्रीन बेल्ट (हरियाली) अनुरक्षित करना।

आईएसओ (ISO) 900 प्रमाणन के अंतर्गत:

  • एचपी गैस की संयंत्र/आयात सुविधाएं आईएसओ 9001:2000 प्रमाणित संयंत्र हैं
  • एमएलआईएफ (मैंगलौर आयात सुविधाएं) आईएसओ 14001:2004 प्रमाणित संयंत्र हैं
  • संयंत्रों/आयात सुविधाओं ने आईएसओ 14001:2004 प्रमाणन प्राप्‍त करने के लिए पहल की है।
  • मैंगलोर एलपीजी आयात सुविधाएं (एमएलआइएफ) आईएसआरएस (इंटरनेशनल सेफ्टी रेटिंग सिस्‍टम) स्‍तर 7 प्रमाणित कार्यस्‍थल है। यह भारत के तेल उद्योग का पहला विपणन कार्यस्‍थल है जिसे आईएसआरएस स्‍तर प्रमाणन प्राप्‍त हुआ है।

प्रमुख अग्नि रोधक सुविधाएं:

  • पर्याप्‍त क्षमता के अग्निरोधक इंजिन
  • ऑटोमेटिक अग्नि रोधक प्रणाली: आग का पता लगाने और ऑटो अग्निरोधक प्रणाली को चलाने तथा आग को बुझाने के लिए वॉटर स्प्रिनकलर का प्रचालन करने के लिए क्वारीइड बल्‍ब ही डिटेक्‍शन प्रणाली है।पुश बटन ऑटो अग्नि रोधक प्रणाली प्रदान की गई है
  • 4 प्रमुख एचआर अग्नि रोधन के लिए आवश्‍यकता के लिए पर्याप्‍त जल भंडारण की सुविधा है
  • एलपीजी के रिसाव का पता लगाने के लिए जीएए मॉनीटरिंग सिस्‍टम और अग्नि रोधन के लिए उन्‍हें अलार्म देना
  • प्रेशर वेसल में ऑटो शट ऑफ पम्‍प/कम्‍प्रेसर सिस्‍टम चलाने के लिए ओवर फिलिंग अलार्म सिस्‍टम लगाए गए हैं।
  • सुरक्षित कार्य के‍लिए सुरक्षा उपकरण/पीपीई/ सुरक्षा वस्‍त्र
  • प्रभावी संप्रेषण प्रणाली
  • कोई रिसाव/शॉर्टसर्किट होने पर वीसीबी/ओसीबी/अन्‍य इलेक्ट्रिकल सर्किट को ट्रिप ऑफ करने के लिए इलेक्ट्रिकल ट्रिप्पिंग सिस्‍टम

सुरक्षा गतिविधियों के अंतर्गत

मॉक ड्रिल एलपीजी के कार्यस्‍थल पर बेहद जोखिमपूर्ण हैं, ऐसे कार्यस्‍थलों में कार्यरत सभी को किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए प्रशिक्षित करना निहायत ज़रूरी है। इन्‍हें मॉकड्रिल के माध्‍यम से प्रशिक्षित किया जाता है। एचपी गैस द्वारा हर कार्यस्‍थल में माह में 2 बार मॉक ड्रिल किया जाता है ताकि कर्मचारियों को किसी भी आपात स्थिति का सामना करने के लिए पर्याप्‍त रूप से प्रशि‍क्षित हों।

बाहरी एजेन्सियों के साथ मॉक ड्रिल एचपी गैस द्वारा वर्ष में दो मॉक ड्रिल का लक्ष्‍य निर्धारित किया गया है ताकि कार्यस्‍थल में कार्यरत कार्मिक किसी भी प्रकार की आपात स्थिति का सामना करने के लिए अच्‍छी तरह से प्रशिक्षित हैं ।

प्रशिक्षण

कंपनी के कर्मचारियों, ठेका कर्मी, सुरक्षा कर्मी, ट्रक कर्मी दल, सिलिंडर डिलीवरीमेन और मेकेनिकों को प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए सर्वोच्‍च प्राधान्य दिया जाता है। कई कर्मचारियों को शामिल करते हुए कई प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं और निरंतर संचालित किए जा रहे हैं।

वर्तमान वर्ष में फरवरी 2005 में, एचपी गैस द्वारा 20000 से अधिक कार्मिको को प्रशिक्षण कार्यक्रमों में प्रशिक्षित किया जा चुका है।

व्‍यावहारिक और क्रियात्मक प्रशिक्षण कार्यक्रम के आयोजन के लिए प्रशिक्षण परियोजना ‘उत्‍साह’ का आयोजन एचपी गैस ने इस कार्यक्रम के तहत कई कार्यस्‍थलों को शामिल किया है और सभी एलपीजी संयंत्रों को शामिल करने तक जारी रहेगा।

उत्‍पाद एवं सेवाएं