Press Release

English
Image: 

HPCL Launches Very Low Sulphur Fuel Oil (VLSFO) for Shipping Industry on 2nd January 2020, at Visakhapatnam

Mumbai 3rd January 2020

हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एचपीसीएल) ने 2 जनवरी 2020 को विशाखापट्टनम में आईएमओ-2020 अनुकूल बहुत कम सल्फर फ्यूल ऑयल का शुभारंभ श्री मुकेश कुमार सुराणा, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक के करकमलों से किया। इस अवसर पर निदेशक-रिफाइनरीज, श्री विनोद एस. शेणॉय, निदेशक-विपणन, श्री राकेश मिस्‍री, कार्यकारी निदेशक-प्रत्यक्ष बिक्री, श्री अजीत सिंह और अन्य वरिष्ठ अधिकारी गण उपस्थिति थे। वीएलएसएफओ की पहली बैच का, पहले से ही एचपीसीएल की विशाख रिफाइनरी ने दिसंबर 2019 की शुरुआत में, 1 जनवरी 2020 की समय सीमा से पूर्व इसका उत्पादन किया है।

श्री सुराणा ने कहा कि एचपीसीएल सदैव स्वच्छ तथा संधारणीय समाधान देने में सबसे आगे रहा है। इस वर्ष 1 जनवरी 2020 से, अंतर्राष्ट्रीय समुद्री संगठन (आईएमओ) ने फ्यूल पर 0.5% वैश्विक सल्फर केप उन क्षेत्रों के लिए लागू किया है जिन्हें 31 दिसम्बर 2019 तक 3.5% सल्फर युक्त फ्यूल ऑयल उपयोग करने की अनुमति थी। इन क्षेत्रों में, अब सभी जहाजों से अधिकतम 0.5 तक सल्फर वाले फ्यूल का उपयोग करने की अपेक्षा की जाती है सिवाय उनके जो एक्जास्ट गैस क्लिनिंग प्रणाली जैसे स्क्रूब्बर्स प्रयुक्त करते हैं।

श्री सुराणा ने स्पष्ट किया कि एचपीसीएल वीएलएसएफओ शिपिंग कंपनियों को सल्फर डायआक्साइड उत्सर्जन पर विनियमन कटौती को आईएमओ-2020 अनुकूल समुद्री फ्यूल की आपूर्ति कर सहायता प्रदान करेगा। यह उत्पाद रेसिड्यूल समुद्री ग्रेड (आरएमजी‌) 0.50 विनिर्देशन और आईएसओ 8217:2017 मानक आवश्यक्ताओं को पूरा करता है। यह फ्यूल अंतर्राष्ट्रीय मानकीकरण संगठन द्वारा हाल ही में जारी आईएसओ 23263:2019 मानक के विस्तृत गुणवत्ता मार्गदर्शनों को भी पूरा करता है।

एचपीसीएल अपने स्वामित्व के रणनीतिपूर्ण स्थानों पर स्थित दो मुख्य रिफाइनरियों, विशाखापट्टनम में पूर्व तट पर तथा मुंबई में पश्चिमी तट पर स्थित रिफाइनरियों का प्रचालन करता है। पर्यावरण सुरक्षा की दिशा में अपनी प्रतिबध्दता के साथ, एचपीसीएल ने दोनों रिफाइनरियों में निर्धारित समय-सीमा से पूर्व बीएस-VI अनुकूल परिवहन फ्यूल के उत्पादन के लिए कदम उठाए हैं। इसके साथ ही, विशाख रिफाइनरी की क्षमता 8.33 से 15 एमएमटीपीए तथा मुंबई रिफाइनरी की क्षमता 7.5 से 9.5 एमएमपीटीए बढ़ाने के लिए दोनों रिफाइनरियों ने महत्वाकांक्षी विस्तार परियोजनाएं भी शुरु की हैं। एचपीसीएल की पंजाब के भटिंडा में 11.3 एमएमटीपीए संयुक्त उद्यम रिफाइनरी (एचएमईएल) है। यह एक और 9 एमएमपीटीए रिफाइनरी तथा पेट्रोकेमिकल कॉम्प्लेक्स राजस्थान के बाड़मेर में भी स्थापित कर रही है। एचपीसीएल की मुंबई में भारत की सबसे बडी ल्यूब रिफाइनरी है तथा दूसरा सबसे बड़ा देशभर में पेट्रोलियम पाइपलाइन नेटवर्क है और देश में विस्तृत विपणन संरचना है।

एचपीसीएल अपनी सभी व्यावसायिक गतिविधियों में विविध प्रचालनों के माध्यम से संधारणीय विकास के आर्थिक, पारिस्थितिक और सामाजिक उद्देशों की सतत प्राप्ति हेतु प्रतिबध्द है।

Hindustan Petroleum Corporation Limited (HPCL) launched IMO-2020 compliant Very Low Sulphur Fuel Oil (VLSFO) at Visakhapatnam on 2nd January 2020 at the hands of Shri Mukesh Kumar Surana, Chairman & Managing Director in presence of Director – Refineries, Shri Vinod S Shenoy, Director – Marketing, Shri Rakesh Misri, Executive Director – Direct Sales, Shri Ajit Singh and other top officials. The first batch of VLSFO is already produced in Visakh Refinery of HPCL in early December 2019, ahead of the deadline of 1st January 2020.

Shri Surana said that HPCL has always been in the forefront of providing cleaner and sustainable solutions. From 1st January 2020, the International Maritime Organization (IMO) has enforced a 0.5% global Sulphur cap on fuel for areas which till 31st December 2019 were allowed to use fuel oil with 3.5% Sulphur.  In these areas, all ships are now required to use fuel with a maximum Sulphur content of 0.5%, unless they use exhaust gas cleaning systems like Scrubbers.

Shri Surana brought out that HPCL’s VLSFO will help the shipping companies to respond to the tightening regulation on Sulphur dioxide emissions by offering this IMO-2020 compliant marine fuel. The product meets the Residual Marine Grade (RMG) 0.50 Specification and ISO 8217:2017 standard requirements. This fuel also meets all quality guidelines detailed by the International Organization of Standardization in its recently released ISO 23263:2019 standard.

HPCL owns and operates two major Refineries strategically located in Visakhapatnam on the east coast and Mumbai on the west coast.  To continue with its commitment towards environment protection, HPCL has undertaken measures at both the refineries to produce BS-VI compliant transport fuels before the stipulated schedule. In addition, both refineries have also taken up ambitious expansion projects to increase Visakh Refinery capacity from 8.33 to 15 MMTPA and Mumbai Refinery capacity from 7.5 to 9.5 MMTPA. HPCL has a 11.3 MMTPA Joint Venture Refinery (HMEL) at Bhatinda in Punjab. It is also establishing another 9 MMTPA Refinery & Petrochemical Complex at Barmer in Rajasthan. HPCL has the largest lube refinery in India at Mumbai and owns second largest cross country petroleum pipeline network and a vast marketing infrastructure in the country.

HPCL is committed to consistently achieve the economic, ecological and social responsibility objectives of sustainable development through varied operations in all its business activities.

Go Back